राज्य  के  31 मार्च तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल   पूरा करने वाले शिक्षक होंगे नियमित , इन्हें साड़ी सुविधाओं के साथ मिलेगा सामान काम का सामान वेतन same work same pay , शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रक्रिया शुरू की , पूरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक पढ़ें  - NewstvBihar

राज्य  के  31 मार्च तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल   पूरा करने वाले शिक्षक होंगे नियमित , इन्हें साड़ी सुविधाओं के साथ मिलेगा सामान काम का सामान वेतन same work same pay , शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रक्रिया शुरू की , पूरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक पढ़ें 

newstvbihar.in

राज्य  के  31 मार्च तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल   पूरा करने वाले शिक्षक होंगे नियमित , इन्हें साड़ी सुविधाओं के साथ मिलेगा सामान काम का सामान वेतन same work same pay , शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रक्रिया शुरू की , पूरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक पढ़ें 

 

शिमला  :–राज्य  के  31 मार्च तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल   पूरा करने वाले शिक्षक होंगे नियमित , इन्हें साड़ी सुविधाओं के साथ मिलेगा सामान काम का सामान वेतन same work same pay , शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रक्रिया शुरू की , पूरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक पढ़ें

राज्य के सरकारी स्कूलों और कॉलेज में अनुबंध आधार पर कार्यरत 2 हजार के करीब शिक्षकों को नियमित किया जाएगा। 31 मार्च तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल पूरा करने वाले शिक्षकों को नियमित किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने इसको लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी है। स्कूल व कॉलेजों को एक परफॉर्मा जारी किया गया है। स्कूलों को 31 मार्च और कॉलेजों को 2 अप्रैल से पहले इसे भरकर शिक्षा निदेशालय भेजने को कहा गया है। विभाग ने सभी स्कूल व कॉलेज प्रधानाचार्यों को निर्देश दिए हैं कि इसकी सूची जारी करने में किसी भी तरह की देरी न करें। परफॉमा में शिक्षकों की नियुक्ति से लेकर अन्य तरह की जानकारियां मांगी गई है।

    अप्रैल के दूसरे सप्ताह में विभाग शिक्षकों के नियमितीकरण की सूची जारी कर देगा। 31 मार्च और 30 सितंबर तक तीन साल अनुबंध का कार्यकाल पूरा करने वाले कर्मचारियों को सरकार नियमित करती है। लेकिन विभागीय स्तर पर इसमें होने वाली देरी के कारण शिक्षक व कर्मचारियों को अप्रैल के बजाए जुलाई व अगस्त महीने में नियमित किया जाता है। यह मामला कई बार सरकार के समक्ष भी उठ चुका है। शिक्षा विभाग ने पुरानी गलतियों से सबक लेते हुए इस बार पहले ही प्रक्रिया शुरू करने का निर्णय लिया है ताकि नियमितीकरण में कोई देरी न हो। सीएंडवी,टीजीटी, जेबीटी, लेक्चरर न्यू और कॉलेज लेक्चरर को नियमित किया जाना है।

स्कूलों को मिले 46 लेक्चरर

राज्य के सरकारी स्कूलों में 46 लेक्चरर न्यू को तैनाती दी गई है। सभी लेक्चरर अंग्रेजी विषय के हैं। हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग से रिजल्ट घोषित करने के बाद शिक्षा विभाग ने इनके स्टेशन अलॉट कर फाइल अंतिम मंजूरी के लिए सरकार को भेजी थी। राज्य सरकार से मंजूरी मिलने के बाद इन शिक्षकों को स्कूलों में तैनाती दे दी गई है। शिक्षकों को उन स्कूलों में तैनात किया गया है जहां पर शिक्षकों के पद पहले से खाली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×