बिहार के शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान , शिक्षकों के वेतन में भी होगी बढ़ोतरी , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए उच्च स्तर का शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग  - NewstvBihar बिहार के शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान , शिक्षकों के वेतन में भी होगी बढ़ोतरी , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए उच्च स्तर का शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग  - NewstvBihar

बिहार के शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान , शिक्षकों के वेतन में भी होगी बढ़ोतरी , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए उच्च स्तर का शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग 

बिहार के शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान , शिक्षकों के वेतन में भी होगी बढ़ोतरी , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए उच्च स्तर का शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग 

बिहार पटना :बिहार के शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान , बहुत जल्द होगी लाखो शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया शुरू, शिक्षकों के वेतन में भी होगी बढ़ोतरी , गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए उच्च स्तर का शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग

शिक्षा मंत्री श्री चन्द्रशेखर जी ने कहा कि बहुत जल्द शिक्षकों के वेतन में बढ़ोतरी की घोषणा मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार करेंगे । मुख्यमंत्री जी से इस सम्बंध में हमारी बात हो चुकी हैं । मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि बहुत जल्द शिक्षकों के वेतन में बढ़ोतरी की घोषणा की जाएगी ।

मंत्री जी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा बच्चों को देने की है इसके लिए हमलोगों ने SCERT से मिलकर एक कार्यक्रम तैयार किये हैं जिसके अंर्तगत शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा ये प्रशिक्षण अत्य आधुनिक होगी इससे बच्चों और शिक्षकों को बहुत अधिक फायदा होगा ।

बिहार में शिक्षकों की बहाली को लेकर रास्ता साफ हो गया है. शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर ने इसकी जानकारी सदन में दी. कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता के विकास के लिए रिक्त शिक्षकों एवं प्राध्यापकों के पद पर नियुक्ति की कार्यवाही तेजी से की जा रही है.

इसको लेकर समय भी तय हो गया है. जानिए कब होगी शिक्षक बहाली…

पटना: बिहार में शिक्षक बहाली का रास्ता साफ हो गया है. शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने इसकी जानकारी दी है. कहा कि बहुत जल्द ही शिक्षकों की बहाली की जाएगी. शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर शिक्षकों की नियुक्ति 2023-24 में की जाएगी. शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर ने बिहार विधानसभा में सोमवार को शिक्षा विभाग की मांग पर अपना वक्तव्य देते हुए इसकी जानकारी दी.

नियुक्ति की कार्यवाही में तेजीः शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता के विकास के लिए रिक्त शिक्षकों एवं प्राध्यापकों के पद पर नियुक्ति की कार्यवाही तेजी से की जा रही है. वर्ष 2022 में राज्य के प्राथमिक विद्यालयों में 42000 शिक्षकों, मध्य विद्यालय में करीब 25 सौ से अधिक शिक्षक एवं स्वास्थ्य अनुदेशक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 2716 शिक्षक एवं 369 प्रधान अध्यापकों की नियुक्ति की गई है.

इस साल होगी शिक्षकों की बहालीः वर्ष 2023-24 में प्रारंभिक विद्यालयों में लगभग 80 हजार शिक्षकों, 6500 शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य अनुदेशक तथा माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में करीब एक लाख तीस हजार शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी. इसके अलावा प्राथमिक विद्यालयों में 40506 प्रधान शिक्षक एवं उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में लगभग छह हजार प्रधानाध्यापकों की भी नियुक्ति की जाएगी. स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कंप्यूटर शिक्षक के 7306 पद सृजित किए जा चुके हैं, जिन पर 2023-24 में नियुक्ति की जाएगी.

माध्यमिक स्तर तक पद सृजित होंगेः समावेशी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न दिव्यांगता के प्रशिक्षित विशेष शिक्षकों के प्राथमिक से उच्च माध्यमिक स्तर तक पद सृजित किए गए हैं, जिन पर नियुक्ति वित्तीय वर्ष 2023-24 में होगी. इसी प्रकार उर्दू, फारसी एवं अरबी के लिए टीईटी/एसटीईटी आयोजित कर 26500 पदों को भरने की योजना बनाई जा रही है.

सहायक अध्यापकों की नियुक्तिः विश्वविद्यालय एवं अंगीभूत महाविद्यालयों में वर्ष 2022 में बीपीएससी द्वारा अनुशंसित 48 सहायक अध्यापक की नियुक्ति की जा चुकी है. इसके अलावा बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग से प्राप्त 461 सहायक प्राध्यापक के अनुशंसा पर न्यायादेश के अनुसार कार्रवाई की जाएगी. वर्ष 2023-24 में करीब तीन हजार अतिरिक्त सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी. जबकि राज्य के सरकारी शिक्षक प्रशिक्षण संस्थानों में बीपीएससी के माध्यम से वर्ष 2022 में 356 व्याख्याताओं की नियुक्ति की गई है.

शिक्षकों को प्रशिक्षण देना जरूरीः शिक्षक प्रशिक्षण पर उनका कहना था कि शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए शिक्षकों को उच्च गुणवत्ता का प्रशिक्षण देना आवश्यक है. वर्ष 2023-24 में शिक्षकों के प्रशिक्षण को प्रमुखता से क्रियान्वित कराया जाएगा एवं सभी शिक्षक प्रशिक्षण संस्थानों को नोडल बनाकर देश की प्रमुख संस्थानों /व्यक्तियों के संसाधनों को प्रशिक्षण में उपयोग किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×