इस तारीख को बिहार में लाखों नवसाक्षर महिलाएँ  बुनियादी साक्षरता परीक्षा में होगी सामिल , प्रधानाध्यापक होंगे केंद्र प्रभारी , कहाँ कहाँ बनाया गया परीक्षा का सेंटर जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े  - NewstvBihar इस तारीख को बिहार में लाखों नवसाक्षर महिलाएँ  बुनियादी साक्षरता परीक्षा में होगी सामिल , प्रधानाध्यापक होंगे केंद्र प्रभारी , कहाँ कहाँ बनाया गया परीक्षा का सेंटर जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े  - NewstvBihar

इस तारीख को बिहार में लाखों नवसाक्षर महिलाएँ  बुनियादी साक्षरता परीक्षा में होगी सामिल , प्रधानाध्यापक होंगे केंद्र प्रभारी , कहाँ कहाँ बनाया गया परीक्षा का सेंटर जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े 

इस तारीख को बिहार में लाखों नवसाक्षर महिलाएँ  बुनियादी साक्षरता परीक्षा में होगी सामिल , प्रधानाध्यापक होंगे केंद्र प्रभारी , कहाँ कहाँ बनाया गया परीक्षा का सेंटर जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े 

उत्तर बिहार में महादलित, दलित व अल्पसंख्यक अतिपिछड़ा वर्ग की 1.19 लाख नवसाक्षर महिलाएं नौ जनवरी को बुनियादी साक्षरता परीक्षा में शामिल होंगी। शिक्षा विभाग की ओर से चलाई जा रही अक्षर आंचल योजना के तहत नौ जनवरी को सूबे के सभी जिलों में एक साथ इस परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।

इसको लेकर शिक्षा विभाग की ओर से सभी डीईओ को पत्र भेजा गया है। उत्तर बिहार में समस्तीपुर में सर्वाधिक 30,620 तो पूर्वी चंपारण में 27,400, पश्चिम चंपारण में 20,400, दरभंगा में 15,020, मुजफ्फरपुर में 12,640, सीतामढ़ी में 8260 व वैशाली में 5,060 नवसाक्षर महिलाएं साक्षरता परीक्षा में शामिल होंगी। परीक्षा सुबह 10 से शाम चार बजे तक संबंधित संकुलों में होगी।

जिन केंद्रों पर अभ्यर्थी कम होंगे वहां आसपास के दो-तीन संकुलों को मिलाकर एक केंद्र बनाया जाएगा। इस अवधि में संबंधित केंद्रों पर कोई भी नवसाक्षर महिला तीन घंटे तक परीक्षा दे सकती हैं। परीक्षा में पढऩे, लिखने और गणित को मिलाकर कुल तीन खंड होंगे। 150 अंकों की परीक्षा होगी। शिक्षा सेवकों को कहा गया है कि प्रत्येक केंद्र पर कम से कम 20 नवसाक्षर महिलाओं को अनिवार्य रूप से इसमें शामिल कराना है। किसी कारणवश पूर्व की बुनियादी परीक्षा से वंचित रहनेवाली महादलित, दलित, व अल्पसंख्यक अतिपिछड़ा वर्ग अक्षर आंचल केंद्रों की 15 से 45 आयुवर्ग की कोई भी महिला इस साक्षरता परीक्षा में शामिल हो सकती हैं।

प्रधानाध्यापक होंगे केंद्र प्रभारी

जिस संकुल पर परीक्षा होगी वहां के प्रधानाध्यापक केंद्र के प्रभारी होंगे। उत्तरपुस्तिका की जांच प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों द्वारा बीआरसी में की जाएगी। परीक्षा के लिए जिलास्तर पर मानीटङ्क्षरग के लिए एसआरपी व केआरपी को जिम्मा दिया गया है। प्रत्येक नवसाक्षर महिला को परीक्षा में शामिल करने के लिए अधिकतम 27 रुपये प्रति अभ्यर्थी खर्च करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×