शिर्फ़ बिहार नियोजित शिक्षक ही बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक , मात्र 50 प्रतिशत अंक लाने वाले नियोजित शिक्षक बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक,  लगभग बिहार के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में लगभग 45000 हजार प्रधान शिक्षकों की नियमित वेतनमान पर बहाली रास्ता साफ , बिहार के इन जिलों में इतना इतना सीट आवंटित , आरक्षण के हिसाब से भी जिलो की सीटें हुई क्लियर , किस केटेगरी में कितनी है सीटें  जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े  - NewstvBihar शिर्फ़ बिहार नियोजित शिक्षक ही बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक , मात्र 50 प्रतिशत अंक लाने वाले नियोजित शिक्षक बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक,  लगभग बिहार के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में लगभग 45000 हजार प्रधान शिक्षकों की नियमित वेतनमान पर बहाली रास्ता साफ , बिहार के इन जिलों में इतना इतना सीट आवंटित , आरक्षण के हिसाब से भी जिलो की सीटें हुई क्लियर , किस केटेगरी में कितनी है सीटें  जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े  - NewstvBihar

शिर्फ़ बिहार नियोजित शिक्षक ही बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक , मात्र 50 प्रतिशत अंक लाने वाले नियोजित शिक्षक बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक,  लगभग बिहार के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में लगभग 45000 हजार प्रधान शिक्षकों की नियमित वेतनमान पर बहाली रास्ता साफ , बिहार के इन जिलों में इतना इतना सीट आवंटित , आरक्षण के हिसाब से भी जिलो की सीटें हुई क्लियर , किस केटेगरी में कितनी है सीटें  जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े 

शिर्फ़ बिहार नियोजित शिक्षक ही बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक , मात्र 50 प्रतिशत अंक लाने वाले नियोजित शिक्षक बनेंगे नियमित प्रधान शिक्षक,  लगभग बिहार के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में लगभग 45000 हजार प्रधान शिक्षकों की नियमित वेतनमान पर बहाली रास्ता साफ , बिहार के इन जिलों में इतना इतना सीट आवंटित , आरक्षण के हिसाब से भी जिलो की सीटें हुई क्लियर , किस केटेगरी में कितनी है सीटें  जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े 

बिहार पटना  :–सरकारी नौकरी का सपना देख रहे युवाओं के लिए जल्द ही सुनहरा अवसर आने वाला है। बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) जल्द ही राज्य भर के प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्कूलों में प्रधानाध्यापक और प्रधान शिक्षक के लिए सृजित किए गए 45,852 पदों पर भर्ती करने वाला है।

बिहार शिक्षा विभाग की तरफ से शिक्षक भर्ती के संबंध में जल्द ही आधिकारिक अधिसूचना जारी की जा सकती है।

बिहार के नियोजित शिक्षकों को प्रधान शिक्षक बनने के लिए प्रधान शिक्षक प्रतियोगिता परीक्षा में मात्र 50 प्रतिशत ही अंक लाना है । 50 प्रतिशत अंक लाने वाले नियोजित शिक्षक बन जाएंगे नियमित प्रधान शिक्षक । प्रधान शिक्षक की परीक्षा उत्तीर्ण करने के साथ ही नियोजित शिक्षक जिला संवर्ग में तब्दील हो जाएंगे । उनकी वेतन में भी काफी बढ़ोतरी हो जाएगी । लगभग 60 हजार से 70 हजार तक वेतन प्रधान शिक्षकों को मिलेगी ।

 

इस भर्ती के माध्यम से बिहार के विभिन्न जिलों में प्राथमिक स्कूलों में 40,518 शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों और माध्यमिक स्कूलों में 5,334 शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों के पदों पर भर्ती की जाएगी। इन पदों पर भर्ती बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा आयोजित की जाएगी। उम्मीदवार भर्ती से जुड़ी जानकारी और अपडेट के लिए बिहार लोक सेवा आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर नजर बनाएं रखें।

इससे पहले शिक्षक के पदों पर होने वाली भर्ती के लिए राज्य के 38 जिलों में से ज्यादातर ने आरक्षण संबंधी रोस्टर क्लियरेंस की रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेज दी है। जिन जिलों ने अब तक रिपोर्ट नहीं भेजी है, उन्हें भी जल्द से जल्द इसे जमा करने को कहा गया है। इस रिपोर्ट के माध्यम से ही तय होगा कि आरक्षण के मानदंडों के अनुसार किस जिलें में कितनी आरक्षित और अनारक्षित सीटों पर भर्ती की जाएगी।

भर्ती के लिए जिलेवार पदों की संख्या
शिक्षक भर्ती के माध्यम से अररिया में 1327 पद, अरवल में 335 पद, औरंगाबाद में 1093 पद, बांका में 1220 पद, बेगूसराय में 738 पद, भागलपुर में 902 पद, भोजपुर में 1139 पद, बक्सर में 651 पद, दरभंगा में 1424 पद, पूर्वी चंपारण में 1914 पद, गया में 1697 पद, गोपालगंज में 1055 पद, जमुई में 828 पद, जहानाबाद में 547 पद, कैमूर में 612 पद, कटिहार में 1115 पद, खगडिय़ा में 544 पद, किशनगंज में 812 पद, लखीसराय में 473 पद, मधेपुरा में 810 पद, मधुबनी में 1883 पद, मुंगेर में 536 पद, मुजफ्फरपुर में 1632 पद, नालंदा में 1352 पद, नवादा में 963 पद, पटना में 1984 पद, पूर्णिया में 1354 पद, रोहतास में 1271 पद, सहरसा में 754 पद, समस्तीपुर में 1540 पद, सारण में 1436 पद, शेखपुरा में 247 पद, शिवहर में 216 पद, सीतामढ़ी में 1107 पद, सिवान में 1209 पद, सुपौल में 1047 पद, वैशाली में 1112 पद, और पश्चिम चंपारण में 1639 पदों पर भर्ती की जाएगी।।

इस भर्ती के माध्यम से राज्य के प्रारंभिक विद्यालयों में पहली बार प्रधान शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। ये सभी राज्य के शिक्षा विभाग के अतर्गत आएंगे। उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के अनुसार सभी जिलों द्वारा रिपोर्ट भेजे जाने के बाद विभाग द्वारा इसकी समीक्षा की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×