बिहार पंचायत चुनाव 2021 :- बिहार पंचायत चुनाव में6 लाख से अधिक कर्मचारियों की होगी तैनाती , 14 हजार मतदान केंद्र का होगा गठन :-राज्य चुनाव आयोग पटना , मतदान कर्मचारियों को पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने हेतु कितना कितना रुपिया मिलेगा  , किया किया सुविधाएं मिलेंगी जानने के लिए खबर को पूरा पढें - NewstvBihar बिहार पंचायत चुनाव 2021 :- बिहार पंचायत चुनाव में6 लाख से अधिक कर्मचारियों की होगी तैनाती , 14 हजार मतदान केंद्र का होगा गठन :-राज्य चुनाव आयोग पटना , मतदान कर्मचारियों को पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने हेतु कितना कितना रुपिया मिलेगा  , किया किया सुविधाएं मिलेंगी जानने के लिए खबर को पूरा पढें - NewstvBihar

बिहार पंचायत चुनाव 2021 :- बिहार पंचायत चुनाव में6 लाख से अधिक कर्मचारियों की होगी तैनाती , 14 हजार मतदान केंद्र का होगा गठन :-राज्य चुनाव आयोग पटना , मतदान कर्मचारियों को पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने हेतु कितना कितना रुपिया मिलेगा  , किया किया सुविधाएं मिलेंगी जानने के लिए खबर को पूरा पढें

बिहार पंचायत चुनाव 2021 :- बिहार पंचायत चुनाव में6 लाख से अधिक कर्मचारियों की होगी तैनाती , 14 हजार मतदान केंद्र का होगा गठन :-राज्य चुनाव आयोग पटना , मतदान कर्मचारियों को पंचायत चुनाव सम्पन्न कराने हेतु कितना कितना रुपिया मिलेगा  , किया किया सुविधाएं मिलेंगी जानने के लिए खबर को पूरा पढें

 

बिहार पंचायत चुनाव 2021  :--बिहार में पंचायत चुनाव का वक्त नजदीक आ रहा है और राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिलों में चुनाव संबंधी तैयारियां तेज हो गयी है। राज्य में इस वर्ष छह लाख से अधिक मतदानकर्मियों की तैनाती की जाएगी।

इसके लिए सभी जिलों में जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय सरकारी कार्यालयों में तैनात कर्मियों की सूची एकत्र की जा रही है। ताकि अलग-अलग बूथों पर उनकी तैनाती की जा सके।

आयोग सूत्रों के अनुसार राज्य में करीब एक लाख 14 हजार मतदान केंद्रों का गठन किया जाना है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्येक बूथ पर छह मतदानकर्मियों की तैनाती की जाएगी। इनमें पीठासीन पदाधिकारी की संख्या एक, मतदान पदाधिकारी-1 व मतदान पदाधिकारी-2 की संख्या एक-एक तथा मतदान पदाधिकारी-3 की संख्या तीन होगी।

आयोग के अनुसार मतदान दल की नियुक्ति करते समय जिला निर्वाचन पदाधिकारी, पंचायत/निर्वाची पदाधिकारी प्रथम मतदान पदाधिकारी को मतदान केंद्र पर अपरिहार्य कारणों से उनके अनुपस्थित रहने पर पीठासीन पदाधिकारी के कर्तव्यों का पालन करने के लिए प्राधिकृत कर सकेंगे।

आयोग के निर्देशानुसार पीठासीन पदाधिकारी मतदान दल के अन्य सदस्यों से हमेशा संपर्क कायम रखेंगे एवं ईवीएम की प्राप्ति से लेकर मतदान की समाप्ति तक सामूहिक उत्तरदायित्व के बाद ईवीएम एवं अन्य कागजातों को जमा करने के सिद्धांत का पालन करेंगे। सभी मतदान पदाधिकारी पीठासीन पदाधिकारी के मतदान प्रक्रिया को सुचारू बनाने के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करेंगे।

मतदान दल के सभी सदस्यों को मतदान पूर्वाभ्यास में शामिल होना होगा

आयोग के अनुसार मतदान दल के सभी सदस्यों को मतदान पूर्वाभ्यास में अधिक से अधिक शामिल होना होगा। इन्हें ईवीएम एवं बैलेट बॉक्स के परिचालन तथा इससे संबंधित मतदान प्रक्रिया के संबंध में स्पष्ट ज्ञान प्राप्त कर लेना होगा। गौरतलब है कि इस बार राज्य में ईवीएम और बैलेट बॉक्स दोनों माध्यमों से एक साथ पंचायत चुनाव कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×